Aarogya Setu app data security: डेटा सुरक्षा का कोई नुकसान नहीं- ट्वीटर हैंडल के जरिए बताया

मंगलवार को फ्रांस के एक हैकर और साइबर सिक्युरिटी एक्सपर्ट एलिअट अल्डरसन ने आरोग्य सेतु एप की सिक्युरिटी पर सवाल उठाए थे.

कोरोना ट्रैकिंग ऐप आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) पर प्राइवेसी और डेटा सुरक्षा को लेकर उठा रहे सवालों पर सरकार की तरफ से बुधवार को जवाब आया है. सरकार ने कहा कि आरोग्य सेतु ऐप में प्राइवेसी या डेटा सुरक्षा को नुकसान की बात गलत है. अभी तक ऐसी कोई भी खामी सामने नहीं आई है.

मंगलवार को फ्रांस के एक हैकर और साइबर सिक्युरिटी एक्सपर्ट एलिअट अल्डरसन ने दावा किया कि Aarogya Setu एप की सिक्योरिटी में खामी मिली है और 9 करोड़ भारतीय यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है. इस दावे को खारिज करते हुए सरकार ने कहा, ”इथिकल हैकर्स की ओर से यूजर्स के निजी जानकारी को नुकसान पहुंचने के रिस्क संबंधित कोई भी बात साबित नहीं की गई है.”
Aarogya Setu app: डेटा सुरक्षा का कोई नुकसान नहीं- रकार ने ऐप के ट्वीटर हैंडल के जरिए कहा कि हम सिस्टम को लगातार टेस्ट और अपग्रेड करते हैं
Aarogya setu app

लगातर अपडेट होता है सिस्टम: सरकार



सरकार ने ऐप के ट्वीटर हैंडल के जरिए कहा कि हम सिस्टम को लगातार टेस्ट और अपग्रेड करते हैं. टीम आरोग्य सेतु प्रत्येक को यह भरोसा  दिलाती है कि प्राइवेसी या डेटा सुरक्षा के नुकसान की कोई खामी अभी तक नहीं पाई गई है. इस ट्वीट में हैकर्स की ओर से उठाए गए सवालों के बिंदुवार जवाब दिया गया है.  ट्वीट में कहा गया है कि हमने हैकर्स से इस मुद्दे पर चर्चा की. इसमें ऐप यूजर की लोकेशन की प्राइवेसी पर उठाए गए सवाल पर सरकार का कहना है कि इस संबंध में प्राइवेसी पॉलिसी में स्पष्ट किया गया है.
राहुल गांधी ने भी उठाए थे सवाल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी आरोग्य सेतु ऐप पर सवाल उठाए थे. राहुल गांधी ने दावा किया था कि आरोग्य सेतु ऐप एक जटिल सर्विलांस सिस्टम है. ये एक प्राइवेट ऑपरेटर से आउसोर्स किया गया है. इसका कोई इंस्टीट्यूशनल सर्विलांस भी नहीं है. ऐसे में यह एक गंभीर डेटा सिक्योरिटी और प्राइवेसी का मामला है.
Previous
Next Post »

ConversionConversion EmoticonEmoticon

Note: Only a member of this blog may post a comment.