जानिए ब्रेन ट्यूमर क्या है; क्या क्या लक्षण होते हे और केसे बचाव करे

वैसे तो इंसान के जीवन में परेशानीयाँ’ लगी ही रहती है लेकिन मुश्किल तो तब हो जाती है जब वह इन परेशानी से लड़ नहीं पाता। यह स्थिती तब ही होती है जब उसे कोई रोग ,बीमारी या फिर शारीरिक कष्ट होता है। आज हम आपसे कुछ ऐसे ही विषय को लेकर कुछ बताने जा रहे हैं। जो आपके जीवन के लिए काफी घातक बीमारी होती है। जी हां अगर इस बीमारी का सही समय पर इलाज नहीं कराया जाये तो इंसान का मरना तय होता जाता है। जी हाँ हम बात कर रहे हैं ब्रेन ट्यूमर की । आज हम आपसे इसी बीमारी से जुड़ी कुछ ऐसी बातों को बताने जा रहे है जो आप लोगो के लिए काफी जरूरी है |

यह तो आप भी जानते होंगे कि ब्रेनट्यमर बड़ी ही खतरनाक बीमारी है अगर इसका सही समय पर पता न चल पाये तो इंसान का मरना तय होता है। अगर इस बीमारी के इलाज कि बात करें तो सर्जरी ही इसका प्रमुख इलाज माना जाता है। लेकिन सबसे अहम बात तो यह है कि इसका पता भी सही समय पर अगर लग जाये तो ही इसका इलाज हो पाना संभव है अन्यथा इंसान अपनी जिन्दगी से हाथ धो बैठता है । इसलिए आज हम आपको ब्रेन ट्यूमर के कुछ ऐसे शुरूआती लक्षण के बारे में बताने वाले हैं जिसे जानकर आप भी यह तय कर सकते हैं कि कही आपको ब्रेन ट्यूमर तो नहीं होने वाला है |
जानिए ब्रेन ट्यूमर क्या है; क्या क्या लक्षण होते हे और केसे बचाव करे 
जानिए ब्रेन ट्यूमर क्या है; क्या क्या लक्षण होते हे और केसे बचाव करे 

जी हां, नीचे दिए गये कुछ लक्षण अगर आपको भी दिखे तो आप तुरंत किसी डॉक्टर से जाँच और उपचार कराए :
ब्रेन ट्यूमर होने पर इंसान को अक्सर उल्टी की समस्या होने लगती है | यह समस्या ज़्यादातर सुबह के समय होती है । साथ ही एक स्थान से दूसरे स्थान जाने पर भी उसे उल्टी जैसा महसूस होने लगता है ।

यदि ट्यूमर आपके फ्रंटल लोब में है तो आप अपने व्यवहार में बदलाव महसूस करने करेंगे । इस जगह गांठ होने पर व्यक्ति बहुत ज्यादा गुस्सा और चिड़चिड़ा होने लगता है |

सेरिबैलम में ट्यूमर होने पर व्यक्ति की मूवमेंट और संतुलन आदि प्रभावित होने लगती है। वह अपने शारीरिक संतुलन को मेंटेन नहीं कर पाता |

यदि ट्यूमर व्यक्ति के टैम्पोरल लोब है तो उसे बोलने में दिक्कत होगी। इस स्थिति में व्यक्ति द्वारा बोली हुई बातें सामने वाला समझ नहीं पाता और उसे अचानक बोलने में दिक्कते आती है |

ब्रेन ट्यूमर होने पर आंखों की रौशनी भी धीरे-धीरे कम होने लगती है। कभी-कभी तो समस्या इतनी बढ़ जाती है कि रंगों और चीज़ों को पहचानना भी इंसान के लिये मुश्किल-सा हो जाता है। और ट्यूमर बढ़ने के साथ आंखों से धुंधला भी दिखाई देने लगता है ।


ब्रेन ट्यूमर से बचाव
1. विटामिन-सी मस्तिष्क कैंसर के मरीजों के ट्यूमर को तेजी से खत्म कर सकता है।
2. ब्रेन ट्यूमर से बचाव के बहुत रास्ते ज्ञात नहीं हैं, फिर भी खानपान में रसायनों से जितना बच सकें, बेहतर है।
3.. ज्यादा जागने की आदत न बनाएं। नर्वस सिस्टम को परेशानियों से बचाए रखने के लिए भरपूर नींद जरूरी है।
4.. विटामिनों और पौष्टिकता से भरपूर आहार लें। विटामिन-सी, विटामिन-के और विटामिन-ई वाले खाद्य पदार्थों पर विशेष ध्यान दें।
5. जंकफूड या डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों से दूरी बनाएं।
5. पानी भरपूर पिएं।

अगर आपको भी इनमे से कोई लक्षण खुद में या आपके किसी अपने में दिखाई देते है तो आप तुरंत ही डॉक्टर से सम्पर्क करे क्योंकि अगर आप ने देर कर दी तो समय के साथ ट्यूमर बढ़ता जयेगा और अंततः व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है | हम आपको यह भी बता दे की समय पर जाँच कराने से ये समस्या खत्म हो सकती है और एक सर्जरी के बाद आप फिर से ठीक हो सकते है |

Post a Comment

0 Comments