WhatsApp Fake News Enquiry Centre

व्हाट्सएप फेक न्यूज के लिए लाया Enquiry Centre
WhatsApp ने मंगलवार को अपने 'चेकप्वाइंट टिपलाइन (Checkpoint Tipline)' की घोषणा कर दी है। इसकी मदद से यूजर प्राप्त जानकारी को सत्यापित कर सकते हैं। मैसैजिंग के दिग्गज एप ने यह घोषणा Fake News और अ‌फवाहों को रोकने के लिए की है ताकि वह आने वाले लोकसभा चुनाव को प्रभावित न कर पाएं। बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर WhatsApp ने भारत सरकार से Fake News लगाम लगाने का वादा किया है।
WhatsApp Fake News Enquiry Centre

WhatsApp का यह नया Update प्रोटो द्वारा लॉन्च किया गया है, जो भारतीय आधारित मीडिया स्किल स्टार्टअप है। यह अफवाहों और गलत जानकारियों को इकट्ठा कर उसका डाटाबेस तैयार करेगी ताकि चेकप्वाइंटl में उसका इस्तेमाल किया जा सके। चेकप्वाइंट एक रिसर्च प्रोजेक्ट है, जो WhatsApp की मदद सहायता करता है। यह बात फेसबुक के स्वामित्व वाले एप ने कही।

इस नंबर पर कर सकते हैं शिकायत

WhatsApp पर आने वाली गलत जानकारी या अफवाह को चेकप्वाइंट के WhatsApp नंबर (+91-9643-000-888) पर जाकर जांच सकते हैं। इसके लिए WhatsApp उपयोगकर्ता को संदिग्ध मैसेज चेकप्वाइंड के साथ साझा करना होगा। इसके बाद प्रोटो का (verification) वेरिफिकेशन सेंटर उस सूचना को अपने खास चरणों पर परखेगा और यूजर को उसकी सही और गलत होने की जानकारी देगा। कंपनी के मुताबिक, यह जानकारी सच, झूट, भ्रामक और विवादित जैसी श्रेणी में बांटकरl दिखाई जाएगी।

Image, Video और Text सभी की हो सकेगी जांच

WhatsApp का यह फीचर पिक्चर में दी गई जानकारी, Video link और Text तक का रिव्यू करने में सक्षम है। साथ ही यह तकनीक अंग्रेजी, हिंदी, तेलुगू, बंगाली और मलयालम भाषा को सपोर्ट करती है। WhatsApp का स्वामित्व फेसबुक के पास है और फेसबुक के लिए भारत एक बड़ा बाजार है, जहां उसके 20 करोड़ से अधिक यूजर हैं। बीते समय में WhatsApp पर Fake News की जानकारी फैलाने की वजह से मॉब लिंचिंग के कई मामले सामने आए थे। इसके बाद से WhatsApp लगातार अफवाह और फेक न्यूज को रोकने पर कार्य कर रहा है। इसके लिए (company) कंपनी भारतीय समाचार पत्रों में विज्ञापन भी जारी कर चुकी है। साथ ही टीवी और रेडियो पर अपना कैंपेन चला रही है।
Previous
Next Post »

ConversionConversion EmoticonEmoticon

Note: Only a member of this blog may post a comment.